Latest News

Wednesday, September 16, 2020

उपभोक्ताओं को समय पर सही बिल मिले, लाइन लॉस 15% से नीचे लाएं ऊर्जा मंत्री





- 60 दिन में लाइन लॉस 15% से नीचे ले आने का दिया समय 

- निरीक्षण में खामियों पर किया जवाब-तलब

- प्रबंध निदेशक दक्षिणांचल से मांगी आख्या



ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने बुधवार को जालौन, झांसी, कन्नौज, कानपुर देहात, कानपुर, कासगंज, ललितपुर, महोबा व मैनपुरी के सर्वाधिक लाइन लॉस वाले शहरी व ग्रामीण उपकेंद्रों में लाइन हानियां कम करने के अभियान की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिया कि सभी उपभोक्ताओं को सही व समय पर बिल मिले इसके लिए आवश्यक कार्रवाई करने, उपकेंद्रों की लाइन हानियों को 15% से नीचे ले आने के निर्देश दिये। उन्होंने गलत बिल बनाने वाली लापरवाह बिलिंग एजेंसियों के खिलाफ एफआईआर कराने को कहा। ऊर्जा मंत्री ने जालौन के कोंच-2, कोंच नाका, झांसी के सकरार व मधान मंदिर, कन्नौज के सराय प्रयाग व मार्कंड नगर, कानपुर देहात के मिंदाकुआं व न्यू बारा, कानपुर के मकनपुर व चीना पार्क, कासगंज के सहावर टाउन व कासगंज नगर, ललितपुर के बानपुर व नझई बाजार, महोबा के धौर्रा व बजरिया तथा मैनपुरी के कुर्रा व सिविल लाइंस उपकेंद्रों की समीक्षा की। उन्होंने ट्रांसफार्मरों की लोड बैलेंसिंग न करने, उनके फुंकने के कारणों की सही जानकारी न दे पाने व लक्ष्यपूर्ति में लापरवाही पर नाराजगी जाहिर की। उन्होंने कहा कि लापरवाही से ईमानदार उपभोक्ता को नुकसान उठाना पड़ रहा है। उन्होंने दीपावली से पहले सभी वितरण ट्रांसफार्मरों की लोड बैलेंसिंग कराने के भी निर्देश दिये हैं। जिससे निर्बाध आपूर्ति में कोई कठिनाई न आये।उन्होंने सभी अधीक्षण अभियंताओं को स्पष्ट निर्देश दिया कि कहीं भी उपभोक्ता को बिजली के काम के लिए भटकना न पड़े। बिल न आने, गलत बिल की शिकायतों का निस्तारण तत्काल कराने को कहा। साथ ही टेबल बिलिंग की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए लापरवाह एजेंसियों की जवाबदेही तय करते हुए कार्रवाई के निर्देश भी दिए। ट्रांसफार्मरों के फुंकने व उन्हें समय से न लगाए जाने की शिकायतों को भी उन्होंने गंभीरता से लेने व जवाबदेही सुनिश्चित करने को कहा। ऊर्जा मंत्री ने स्पष्ट किया कि उपभोक्ताओं को समय से बिल मिले इस बात पर किसी भी प्रकार की लापरवाही स्वीकार्य नहीं है। सबको समय से सही बिल मिलेगा तो ही लाइन हानियाँ कम करने में मदद मिलेगी। उपभोक्ताओं को सहूलियत होगी तो ऊर्जा विभाग की मुश्किलें भी कम होंगी। उन्होंने कहा कि 60 दिन के भीतर सभी चिह्नित किये गए फीडरों पर लाइन लॉस 15% से नीचे लेकर आना है। तभी कॉर्पोरेशन को आत्मनिर्भर बनाया जा सकेगा। हम बेहतर और निर्बाध आपूर्ति दे पाएंगे। उन्होंने यूपीपीसीएल अध्यक्ष को निर्देशित किया कि वह तय किये गए लक्ष्यों की नियमित समीक्षा करें और कमियों को दूर कराएं। जिससे उपभोक्ताओं को सहूलियत हो।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision