Latest News

Friday, June 12, 2020

कानपुर : तेज गर्मी में इंसानों और जानवरों का हाल हुआ बेहाल,,,,,,

प्रचंड गर्मी अपनी चरम सीमा पर आ चुकी है। तेज धूप और लू ने लोगों का हाल बेहाल कर दिया है। प्रचंड गर्मी ने सभी को हिला कर रखा दिया है। जनमानस बिलबिला उठा है। तपिश कम होने का नाम नहीं ले रही है। गुरुवार को भी जबरदस्त गर्मी रही जिससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। हालत यह रही कि दोपहर में हर कोई बाहर निकलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहा था। जो लोग सड़क पर आवाजाही कर रहे थे वह धूप से बचाव का प्रबंध किए थे। पारा 43 डिग्री सेल्सियस तक रहा। तेज गर्मी ने पशु पक्षियों को भी बेहाल कर दिया है।


इस बार जून के महीने से ही जुलाई , अगस्त महीने जैसी गर्मी का सामना लोगों को करना पड़ रहा है, इससे पहले कभी जून के महीने में इतनी जबरदस्त गर्मी नहीं पड़ी। सूरज आग उगल रहा है। दोपहर होने के पहले ही सड़कें तपने लगती हैं। इससे राहगीरों को भारी कठिनाई हो रही लेकिन लोगों को गंतव्य तक किसी न किसी तरह से तो पहुंचना ही है। गुरुवार को भी जबरदस्त गर्मी ने लोगों को परेशान करके रख दिया। लोग बिलबिला उठे। पंखे कूलर की हवा राहत देने में बेअसर साबित हो रही थी। सुबह से तीखी धूप निकली जिससे हर किसी की हिम्मत घर से बाहर निकलने की नहीं हो रही थी। जो लोग निकले भी तो छाता, अंगौछा, तौलिया और मुंह पर मास्क लगाए हुए थे ताकि किसी तरह से धूप और लू से बचाव हो सके। राहगीर धूप के कारण बेहाल से दिखाई दिए। जनमानस ही नहीं बल्कि गर्मी ने पशु पक्षियों को भी बेहाल कर दिया है। पशु छायादार स्थान की तलाश में भटकते फिरते हैं। पशु - पक्षियों का भूख और प्यास से बहुत बुरा हाल हो रहा है और उपर से ये गर्मी ने तो इंसानों और जानवरों का जीना बेहाल किया है, इस समय जो कोविड 19 जैसी महामारी पूरे देश  में फैली हुई है जिसके कारण लोग एक दूसरे की मदद के लिए भी मुंह छिपा रहे है, इतनी धूप और गर्मी में लोगो को अपने आस पास की जगहों पर मटके, घड़े या किसी बर्तन में पशु पक्षियों के लिए पानी की सुविधा
उपलब्ध करानी चाहिए। क्योंकि सेवा ही परम धर्म है।



शिवम् सविता (बाला जी)

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision