Latest News

Thursday, May 28, 2020

कानपुर : मनाई गई, वीर सावरकर की जयंती में बोले कृष्णा तिवारी, वीर सावरकर राष्ट्र के सच्चे भक्त

कानपुर महानगर। वीर सावरकर केवल नाम ही नहीं एक सोच है। जब मन में आता है अगर यहीं सोचता है हर कोई कि अगर, सावरकर ना होते तो क्या होता कैसा होता हिन्दुत्व ????

         कानपुर बजरंग दल द्वारा वीर सावरकर की जयंती बड़े धूम धाम से मनाई गई।
इस मौके पर बजरंग दल जिला संयोजक कृष्णा तिवारी ने कहा कि वीर सावरकर मां भारती के अनन्य उपासक थे। साथ ही वो हिंदुत्व के जनक थे। वो
क्रांतिकारियों के सरदार, विदेशी माल का बहिष्कार करने वाले पहले भारतीय, साथ ही उन्होंने 1957 की क्रांति से विश्व को अवगत कराया। अंग्रेज इनसे इतना डरते थे, कि उन्हें दो बार काला पानी की सजा भी दी गई। और तरह तरह की अनेक यातनाएं दी गई। इनसे कोल्हू में बैल का कार्य कराया गया। लेकिन इन्होंने कभी हार नहीं मानी। कृष्णा तिवारी ने कहा कि अनेक यातनाएं सहने के बाद भी वीर सावरकर निरंतर राष्ट्र सेवा में लगे रहे।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision