Latest News

Saturday, May 16, 2020

सरकारी सुविधाओं के लिए दर-दर भटकता आम आदमी, गरीबों की सुनने वाला कोई नहीं : शिल्पी पटेल

मेरठ ब्यूरो रिपोर्ट। यू.पी. के जिला मेरठ में शासन की मंशा क्या है यह समझ पाना बहुत मुश्किल है, क्या योगी सरकार की सुविधाएं कभी आमजनमानस तक पहुँच पायेंगी या बस मध्य वर्ग पूर्व की भांति दर- दर भटकने को मजबूर रहेगा। यूपी मे राशन कार्ड और
आधार कार्ड नही होने पर भी राशन मिलेगा ऐसा बोला जा चुका है। आपको बताते चलें यूपी के मुख्यमंत्री मा० योगी आदित्य नाथ जी ने वरिष्ठ अधिकारीयों के साथ बैठक मे यह आदेश दिया था, कि प्रदेश मे कोई भूखा ना रहें, 30 जून तक सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पी डी एफ) के जरिये हर जरुरत मंद को राशन दिया जायेगा , उन्होंने यह भी कहा था जिन लोगों के पास राशन कार्ड आधार कार्ड नही हैं उन्हें भी राशन मिलेगा।
शिल्पी पटेल, राष्ट्रीय अध्यक्ष/संस्थापक, अखिल भारतीय सेवा दल ने कहा कि ऐसे न जाने कितने आदेश सरकारी हुये, लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और ही है।
उन्होंने कहा कि यह आदेश सीएम ने टीम 11 को दिये, जो टीम राज्य मे कोरोना से जुड़ी सभी उपायों अौर कार्यों का  प्रबंध कर रही है, पर जिला मेरठ मे पिछले 27 दिनों से राशन कार्ड online होने के बाद भी जिला मेरठ के M.D.A ऑफिस मे जमा करवाने के उपरांत अभी तक कोई सुध नही ली जा रही , बीते दिनों से आमजनमानस को भ्रमित कर इधर से उधर दौड़ने पर मजबूर किया जा रहा है। आपको बताते चलें यह मेरठ उ०प्र० का वह जिला है जो शासन द्वारा रेड जोन मे घोषित है व यहाँ आँकड़े 274 के पार है, उ०प्र० शासन , जिला अधिकारी व खाद्य आपूर्ति अधिकारी को पूर्व मे कई बार Twitter व फोन के माध्यम से भी अवगत कराया जा चुका है परंतु कोई सुध नही ली जा रही। सरकारी सुविधाओं से वंचित और महामारी के बीच आम जनमानस परेशान है।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision