Latest News

Tuesday, May 12, 2020

लखनऊ : शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास प्रांत कानपुर टीम, कोरोना काल में भी सक्रिय, टोलियां बनाकर हो रही जनसेवा

लॉकडाउन नहीं आया आड़े, सरकारी गाइडलाइन के हिसाब से सदस्य निभा रहे, अपनी-अपनी भूमिका

न्यास की प्रांतीय टीम, टोलियां बनाकर अलग-अलग पहलुओं पर कर रही काम

SSUN का शीर्ष नेतृत्व ले रहा सदस्यों से ऑनलाइन अपडेट, जूम एप पर कार्यक्रमों की चर्चा

National आवाज़, लखनऊ ब्यूरो।  वैश्विक महामारी (कोविड -19) कोरोना (चीनी वायरस) के कारण लगाये गये देशव्यापी लॉकडाउन में चक्का जाम की स्थिति आ गई, जिसमें आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों के अलावा हर आम और खास को घरों में ही रहना पड़ा। ख़तरनाक संक्रमण कोरोना का इलाज सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग (दो गज दूरी) से ही अधिक प्रभावी और निहित था। इस लिये सुरक्षा की दृष्टि से काम-धंधे छोड़ आदमी घरों में कैद हो गया। इस महामारी के बीच उपजे गंभीर हालातों में सरकारी गाइडलाइन का पालन करते हुये कई स्वयंसेवी संस्थाओं और सामाजिक कार्यकर्ताओं ने जरूरतमंदों के बीच जनसेवा प्रारंभ कर दी, जिमसें इस लॉकडाउन के दौरान मुसीबत में आये निम्न वर्गीय परिवार और रोज, कमाने -खाने वाले तमाम लोगों का पेट भरना था। महामारी में कोरोना योद्धाओं की इस अथक मेहनत को दुनियाँ ने देखा।
ऐसी महामारी (कोरोना काल) के बीच शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास, प्रांत कानपुर की टीम भी सक्रिय है। न्यास के प्रांतीय सदस्यों की कार्यशैली और जज़्बे के आगे देशव्यापी लॉकडाउन भी आड़े नहीं आ सका, सरकारी गाइडलाइन का पालन और सुरक्षा के हर जरूरी एहतियात बरतते हुये, न्यास सदस्य टोलियां बनाकर जनसेवा कर रहे हैं। ऑनलाइन मीटिंगे करते हुये आपसी चर्चा के साथ, SSUN के शीर्ष नेतृत्व को अपडेट करते हुये, सदस्य और प्रांतीय पदाधिकारी अपनी- अपनी भूमिका निभा रहे हैं।

         प्रांतीय संयोजक डॉ. बिंदू सिंह ने बताया कि न्यास की विभिन्न टोलियों के माध्यम से कानपुर प्रांत में शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास कोरोना काल में भी, कार्य कर रहा है। इस सेवा कार्य में हर टीम अलग अलग विभिन्न क्षेत्रों में जिम्मेदारी निभा रही है।
जिसमें ख़ुद प्रांतीय संयोजक द्वारा नवाबगंज क्षेत्र में लगभग 45 मजदूर परिवार (200) गरीब, मजदूरों को भोजन, कच्चा राशन सामग्री, सामर्थ्यनुसार कपड़े और इन परिवारों में बुजुर्गों की दवाइयों व छोटे बच्चों वाले परिवारों को दूध, ब्रेड, बिस्किट आदि के लिये नकद राशि देकर उनको राहत दी जा रही है।
साथ ही कोरोना संकट काल में जरूरतमन्दों की सेवा करने वाली कई स्वयंसेवी संस्थाओं को न्यास की तरफ से सामर्थ्य अनुसार आर्थिक मदद करके अपनी भूमिका निभाई गयी।
वहीं न्यास की सदस्य श्रीमती स्नेह अग्निहोत्री और उनकी टीम द्वारा क्षेत्रीय एक समिति के साथ मिलकर लॉकडाउन के शुरुआती दिनों से ही कानपुर दक्षिण के बर्रा में निरंतर हो रहे भोजन वितरण में भरपूर सहयोग किया जा रहा है। साथ ही न्यास के सक्रिय सदस्य और नवप्रभात परिवार के संस्थापक अरविंद राय और ज्योति अरविंद राय द्वारा टीम के साथ नवाबगंज क्षेत्र की आधा दर्जन मलिन बस्तियों और कालोनियों में निरंतर लंच पैकेट का वितरण किया जा रहा है। न्यास के सदस्य और सामाजिक संस्था RSF के प्रमुख अरविंद सिंह व दीप्ति सिंह द्वारा अपनी टीम के साथ शहरी और ग्रामीण विभिन्न इलाकों में, दैनिक जागरण के साथ मिलकर लगभग सात हजार लंच पैकेट का वितरण जरूरतमन्दों के बीच प्रतिदिन किया जा रहा है।
जरूरतमंद लोगों के बीच भोजन वितरण में SSUN के सदस्य अजय गुप्ता, दिव्या गुप्ता, प्रभा पांडेय, धनपत जैन, अनुपम देशवाल, आभा द्विवेदी, रंजना यादव, गायत्री सिंह, प्रबल प्रताप सिंह, सुजीत सिंह, अतुल श्रीवास्तव, प्रियंका तिवारी, सुरभि द्विवेदी, अपर्णा शुक्ला, एलपी सिंह, कृष्णा शर्मा, मनीषा सिंह, आभा निगम, कविता चतुर्वेदी, दीप्ति शर्मा, अंजली सिंह, विशु रक्सेल, रोहित राधाकृष्णा, लकी चतुर्वेदी, निर्मल कपूर, मंजू भाटिया, संतोष सिंह चौहान, पूजा गुप्ता, ममता सिंह, सुबोध कटियार, मनीष शर्मा, रेखा श्रीवास्तव, कुसुम सिंह चंदेल, सुषमा सिंह, ऋषभ सूर्यवंशी, शुभम कुमार, करन आदि लोग अलग-अलग अपनी टीम बनाकर जनसेवा कार्य में तत्पर हैं।
वहीं सर्वोत्तम तिवारी, शोमिल शर्मा, तुषार मिश्रा, आभा निगम, अनुपम देशवाल, मनीषा सिंह आदि द्वारा अपनी टीम बनाकर, कोरोना वायरस से बचाव में सहायक, आरोग्य सेतु एप के बारे में जागरूक किया जा रहा है। यह टोली इस एप को अधिक से अधिक लोगों के मोबाइल फोन में डाउनलोड करवा रही है।

              इस बीच न्यास के दिल्ली प्रधान कार्यालय से  संगठन शीर्ष नेतृत्व द्वारा हुई जूम एप के माध्यम से ऑनलाइन बैठकों में भाग लेकर प्रांत में हो रही विभिन्न पहलुओं और गतिविधियों, कोरोना कॉल (लॉकडाउन) में हुये सेवा कार्यों की जानकारी समय-समय पर शीर्ष पदाधिकारियों को दी जा रही है, और संगठन नेतृत्व द्वारा दिये गये दिशा निर्देशों पर कार्य किया जा रहा है। लॉकडाउन में शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के राष्ट्रीय सचिव अतुल कोठारी जी के साथ जूम एप पर हुई ऑनलाइन बैठकों में प्रांत, प्रचार प्रसार प्रमुखों की बैठक में अंबेडकर जयंती के उपलक्ष्य में होने वाली आखिर भारतीय चित्रकला प्रतियोगिता के बारे में आवश्यक दिशा निर्देश दिये गए, तकनीकी समस्या के कारण हुई दूसरी प्रचार प्रसार प्रमुखों की बैठक में कानपुर प्रांत से बैठक में कोई हिस्सा नहीं ले सका। अन्य अहम पहलुओं पर हुई बैठकों में प्रांत पदाधिकारियों ने भाग लिया और चर्चा परिचर्चा की।
                     
               न्यास के पर्यावरण प्रकोष्ठ, कानपुर प्रांत के संयोजक धर्मेंद्र अवस्थी व श्रीमती रश्मि श्रीवास्तव ने टीम के साथ जूम एप के माध्यम से पर्यावरण पर ऑनलाइन गोष्ठी का आयोजन किया। आयोजित इस गोष्ठी की परिचर्चा में तय हुआ कि, सभी सदस्य पूर्व में रोपे गए पौधों की देखभाल करें, बढ़ते गर्मी के प्रकोप को देखते हुए, उनको समय पर पानी देने का भी ध्यान रखें, जिससे पौधे विकास करें। तय हुआ कि लाकडाउन खुलते ही सभी सदस्य न्यास के पत्रक को स्कूलों के छात्रों में वितरित करने का अभियान चलाएं, जिससे कि समाज में पर्यावरण जागरूकता बढ़ती रहे। हुई इस परिचर्चा में टोली के सदस्य संतोष शर्मा, अनुज शुक्ला, रीना सिंह, पूनम शुक्ला, संतोष सिंह, रामनिवास शर्मा, पवन गुप्ता, अनूप दुबे आदि ने भाग लिया।

                देश के मुखिया नरेंद्र मोदी द्वारा किये गये आवाह्न, जनता कर्फ़्यू का पालन, लॉक डाउन का पालन, सोशल डिस्टेंसिंग को प्राथमिकता, दीपक जलाना, थाली-ताली, घंटा-घंटी, बजाकर कोरोना वारियर्स का सम्मान करना, न्यास प्रधान कार्यालय निर्देशानुसार, ई-चित्रकला प्रतियोगिता का प्रचार-प्रसार करना (जिसका परिणाम, कानपुर प्रांत से भी प्रतिभागियों ने भारी संख्या में भाग लिया) अंबेडकर जयंती कार्यक्रम, संघ के आवाह्न पर साधू, संतों को श्रद्धांजलि, खतरनाक संक्रमण कोरोना से सुरक्षा और बचाव हेतु समाज मे निरंतर जागरूकता करना आदि, (कोरोना काल) लकडाउन में शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास प्रांत कानपुर के सदस्यों की कार्यशैली का हिस्सा रहे, और हैं।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision