Latest News

Thursday, May 28, 2020

लखनऊ : ऑनलाइन बही ज्ञान की गंगा, हिन्दी कहानी ऑनलाइन प्रतियोगिता में, कर्नाटक की पाखी छेत्री बनीं प्रथम विजेता

लखनऊ| (✒️ सर्वोत्तम तिवारी)कानपुर महानगर की सामाजिक संस्था मां भगवती मेमोरियल चैरिटेबल सोसायटी की ओर से "हिंदी कहानी प्रतियोगिता" का ऑनलाइन आयोजन किया गया। क्योंकि इस वैश्विक महामारी से शुरू हुए लॉक डाउन के कारण बच्चों का कहीं आना जाना नहीं हो पा रहा है, और सभी घर में ही रह कर अपने अपने तरीके से इस महामारी से मुकाबला कर रहे हैं। और नित नए अनुभव को ग्रहण कर रहे हैं। इन्हीं अनुभवों को लेखन के द्वारा व्यक्त करने के लिए मां भगवती मेमोरियल चैरिटेबल सोसायटी ने एक ऑनलाइन कहानी प्रतियोगिता का आयोजन किया।

              आयोजित इस प्रतियोगिता को दो श्रेणी में रखा गया। प्रथम श्रेणी में 8 वर्ष  से  18 वर्ष तक के प्रतिभागी व द्वितीय श्रेणी में 18 वर्ष के ऊपर के प्रतिभागियों ने भाग लिया। प्रथम श्रेणी में पाखी छेत्री (कर्नाटक) ने प्रथम स्थान तथा आर्यन राजपूत  एवं कनन दीक्षित ने द्वितीय स्थान और उदिशा चौधरी एवं शरण्या वर्मा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।
वहीं द्वितीय श्रेणी में अंजना वाजपेई प्रथम व आशीष दलाल (गुजरात) द्वितीय और गौरीशंकर कोष्टा (कानपुर) तृतीय स्थान पर रहे। इसके अतिरिक्त  अविनाश चौधरी, विभा श्रीवास्तव, विशाल पांडे, निहारिका मेहरा, आकांक्षा शर्मा, सृष्टि तिवारी, मोहित कश्यप, आयशा जमाल व सीमा गुप्ता को सांत्वना पुरस्कार दिया गया।

                  प्रतियोगिता में सभी विजेताओं का चयन हमारे निर्णायक मंडल के सदस्यों डॉ. वारसी सिंह, डॉ. बिंदु सर्वोत्तम तिवारी, श्रीमती कविता दीक्षित और डॉ. सुधांशु राय द्वारा किया गया। इस अवसर पर संस्था की सचिव श्रीमती अनुराधा सिंह ने बताया कि प्रतियोगिता का उद्देश्य बच्चों में रचनात्मक दृष्टिकोण को बढ़ावा देना है, इस प्रतियोगिता में संस्था के सदस्यों के साथ-साथ डॉ. ज्ञानेंद्र कुमार, सुनीता कनौजिया, नमिता कटिया और संगीता सिंह आदि का सहयोग रहा।
संस्था की सचिव अनुराधा सिंह ने सभी विजेताओं को शुभकामनाएं दीं।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision