Latest News

Friday, January 3, 2020

सरसौल : सावत्री बाई फुले के जन्मदिन पर गरीब बच्चों को बांटे किताबे व पेंसिल.


नेशनल आवाज़ कानपुरभारत में पहली महिला शिक्षक और सामाजिक कार्यकर्ता सावित्री बाई फुले का जन्म 3 जनवरी 1831 को हुआ था। सावित्री बाई फुले को भारत की पहली शिक्षिका होने का श्रेय जाता है। उन्होंने यह उपलब्धि ऐसे समय में पाई थी जब महिलाओं को पर्दे में रखा जाता था। लेकिन उनके पति ज्योतिराव फुले के सहयोग के कारण उन्होंने न सिर्फ पढ़ाई की बल्कि देश की महिलाओं को भी पढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया। 

सावित्री बाई फुले की जयंती पर लॉर्ड बुद्धा एजुकेशनल सोसाइटी ग्राम पीपल नगला अलीगढ़ ने सावित्री बाई जी के चित्र पर पुष्प अर्पित किया। वहीं सावित्री बाई फुले की जयंती के मौके पर सरसौल विकास खण्ड के उमरावखेड़ा गांव में गरीब बच्चों को किताबें और पेंसिल बांटी।किताबें और पेंसिल पाकर गरीब बच्चों के चेहरे खुशी से खिल उठे। वहीं संस्था के कार्यकर्ताओं ने बताया कि सावित्री बाई जी ने अपने जीवन में बहुत ही कठिन परिश्रम करके इस मुकाम हासिल किया है. हम सभी को उन्ही का अनुसरण करते हुए उन्ही की राहों में चलना है। वहीं इस मौके पर विजय लक्ष्मी बौद्ध प्रभारी कानपुर नगर, सुनील रावत, रमा जाटव, रेनू सिंह, मनोज कुमार, ओम प्रकाश, पिन्टू सिंह सहित सभी लोग उपस्थित रहे।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision