Latest News

Tuesday, November 5, 2019

कानपुर : ज्ञान भारती बालिका इंटर कालेज में डेंगू से बचाव हेतु दी गई जानकारी।


रिपोर्ट- शिवम सविता

जिला आपदा प्रबंध प्राधिकरण एवं जिला रेडक्रॉस सोसायटी कानपुर द्वारा बिरहाना रोड स्थित ज्ञान भारती बालिका इंटर कालेज में डेंगू से बचाव जानकारी जनजागरूकता  शिविर में लखन शुक्ला मुख्य प्रशिक्षक आपदा प्रबंधन मास्टर ट्रेनर रेडक्रॉस सहायक ट्रेनर हरीश तिवारी रत्ना शुक्ला ने अपने विचार व्यक्त किये शुभारम्भ डा शशि सचान विद्यालय प्राचर्या ने किया। लखन शुक्ला ने बताया कि डेंगू मादा एडीज इजिप्टी मच्छर के काटने से होता है। इन मच्छरों के शरीर पर चीते जैसी धारियां होती हैं। ये मच्छर दिन में, खासकर सुबह काटते हैं। एडीज इजिप्टी मच्छर बहुत ऊंचाई तक नहीं उड़ पाता।यह तीन तरह का होता है। 1. क्लासिकल (साधारण) डेंगू बुखार 2. डेंगू हैमरेजिक बुखार 3. डेंगू शॉक सिंड्रोम ,डेंगू के लक्षण ठंड लगने के बाद अचानक तेज बुखार चढ़ना।सिर, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द होना आंखों के पिछले हिस्से में दर्द होना, जो आंखों को दबाने या हिलाने से और बढ़ जाता है बहुत ज्यादा कमजोरी लगना, भूख न लगना और जी मितलाना और मुंह का स्वाद खराब होनागले में हल्का-सा दर्द होना शरीर खास कर चेहरे, गर्दन और छाती पर लाल-गुलाबी रंग के रैशेज होना नाक और मसूढ़ों से खून आना।शौच या उलटी में खून आना स्किन पर गहरे नीले-काले रंग के छोटे या बड़े चिकत्ते पड़ जाना।मच्छरों को पैदा होने से रोकने के उपाय- घर या ऑफिस के आसपास पानी जमा न होने दें, गड्ढों को मिट्टी से भर दें, रुकी हुई नालियों को साफ करें। इस अवसर पर आर के सफ्फड़ सचिव रेडक्रॉस डा शशि सचान प्रतिभा बाजपेई, किरन बाला सरिता आदि उपस्थित रही।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision