Latest News

Wednesday, May 15, 2019

वरिष्ठ पत्रकार लोकेश प्रताप सिंह के निधन से पत्रकारिता जगत में छायी शोक की लहर।


दैनिक जागरण से एक सामान्य रिपोर्टर से कार्य शुरू किया आज चीफ सब एडिटर और पीलीभीत के ब्यूरो चीफ के रूप में कार्यरत लोकेश जी सन 1996 के आसपास अयोध्या में हिन्दू महासभा के संगठन से कार्य छोड़कर पत्रकारिता के क्षेत्र को अपना कैरियर बनाया। कानपुर से अपनी पत्रकारिता की पारी शुरू किया। एक कुशल वक्ता के रूप में प्रख्यात होने के बाद भी ग्राउंड रिपोर्टिंग से जुड़े रहे। वह मेनका गांधी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के अत्यंत करीबी रहे। कब वे कैंसर की चपेट में आ गए कोई जान भी नहीं सका। स्वयं मेनका जी उनका इलाज करा रहीं थीं। अभी बीते कुछ समय पहले मुख्यमंत्री जी ने उन्हें बुलाकर उनके स्वास्थ्य संबंधी जानकारी ली थी।
दुर्भाग्य और दुखद ये है कि भोर के 3 बजे रामनगर (अयोध्या) में सबकी खबर लेने वाला खबरों का जादूगर खुद खबर बनकर सदा के लिए हम सबके बीच से चले गये। अपनें पीछे लोकेश जी अपनी प्रोफेसर पत्नी और एक नन्हा बेटा को छोड़ गए हैं।
ह्रदय विदीर्ण है।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision