Latest News

Wednesday, March 20, 2019

चाइल्ड्लाइन ने 47 बच्चो को किया पुर्नवासित अपनो संग मनायेंगे होली का पर्व।




कानपुर नगर में शिकायत से बच्चों की मदद के लिए काम कर रही चाइल्डलाइन ने अपने परिजनों से बिछड़े 47 बच्चों की मदद किया जिससे उनके परिजन से मिलने आए। जिससे यह बच्चे अपने परिजनों के बीच होली का पर्व व उल्लास के साथ मना सकेंगे। यह बच्चे परिजनों से बिछड़े घर से नाराज व रास्ता भटक जाने के कारण अपने अभिभावकों से बिछड़ गए थे। जो कि चाय बना लो स्वयंसेवकों को पुलिस व अन्य सम्पर्क सूत्रो से मिले थे। जैन नाथ द्वारा इन बच्चों की काउंसलिंग कर पुलिस को अपने संसाधनों का प्रयोग करते हुए इन बच्चों के परिजनों को होली से पूर्व खोज निकाला और इन बच्चों को अपने परिजनों के साथ होली का पर्व मनाने का अवसर प्रदान किया परिजनों ने अपने खोए हुए बच्चों को पाकर उनकी खुशी का ठिकाना ना रहा। इन बच्चों में प्रमुख रूप से बाबू पुत्र सलाम बिहारी निवासी कानपुर अभिषेक पुत्र जगदीश सिंह निवासी औरैया राहुल सिंह पुत्र स्वर्गीय जगदीश सिंह अंकित पुत्र स्वर्गीय एक बहादुर निवासी उन्नाव पप्पू कुमार पुत्र शत्रुघ्न मंडल धर्मेंद्र पुत्र राजेंद्र निवासी हमीरपुर सुशील पुत्र विजय निवासी हमीरपुर आज बच्चों को उनकी काउंसलिंग करवा परिजनों और उनके माता-पिता को सुपुर्द किया गया।चाइल्डलाइन कानपुर के समन्वयक के प्रतीक शर्मा ने बताया कि बच्चे अपने परिजनों से मिलकर खुश हुए और होली का पर्व अपने परिवार के साथ मना सकेंगे वह अपने खोए बच्चों को पाकर परिजनों की खुशी का ठिकाना ना रहा साथ ही उन्होंने चाइल्ड्लाइन का आभार व्यक्त किया। चाइल्डलाइन के निदेशक कमलकांत तिवारी ने ने बताया कि प्रत्येक मां सैकड़ों बच्चे विभिन्न स्थानों पुलिस व स्वयं सेवकों के माध्यम से आते है। और यह बड़ी सफलता है कि चलना इनके प्रयास से लगभग सभी बच्चों को मदद पहुंचाई जाती है और उन्हें उनके परिजनों से मिलाया जाता है इसी प्रकार मार्च माह में आए इन बच्चों के परिजनों की खोज व बच्चों की काउंसलिंग कर इन्हें परिजनों से सुपुर्द किया गया जिससे यह होली का पर्व खुश होकर अपने बच्चों साथ मना सके।

रिपोर्ट- शिवम सविता

नेशनल आवाज़ कानपुर

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision