Latest News

Monday, March 11, 2019

FATEHPUR : योगी सरकार में नही थम रहा भृष्टाचार, सरकार के दावे हुए फेल।




जिला अस्पताल के पोस्टमार्टम हाउस के कर्मचारियों ने पोस्टमार्टम करने के लिए मांगे पैसे, मना करने पर पोस्टमार्टम करने से किया इंकार।

उत्तर प्रदेश के जनपद फतेहपुर में भृष्टाचार ने अपनी जड़ें कितनी अंदर तक जमा ली है इसका नजारा फतेहपुर जिला अस्पताल में सोमवार को देखने को मिला। पोस्टमार्टम हाउस के कर्मचारियों ने शव का पोस्टमॉर्टम करने से पहले सात सौ रुपये मृतक के परिजनों से मांगे। गरीबी की वजह से परिजनों ने जब पैसे देने से मना कर दिया तो कर्मचारियों ने पोस्टमॉर्टम करने से मना कर दिया। मानवता को शर्मसार करने वाली यह तस्वीर कैमरे में कैद हो गई। किसी तरह उधार लेकर मृतक के परिजनों ने पैसा कर्मचारी को दिया तब जाकर पोस्टमॉर्टम हुआ। घटना का वीडियो सामने आने के बाद इसकी जानकारी जिले के स्वास्थ्य महकमे को लगी और आनन-फानन में सीएमओ ने मौके पर पहुंचकर पीड़ित के पैसे भी वापस करा दिए और मामले के रफा-दफा करने की कोशिशों में जुट गए। बता दें कि बिंदकी कोतवाली के रहने वाली अंजू की ससुराल में संदिग्ध हालत में मौत हो गई थी परिजन ससुराल वालों के ऊपर हत्या का आरोप लगा रहे है। जिस मृत महिला का पोस्टमार्टम होना था जिसके एवज में पैसों की मांग की गई। वहीं परिजनों का आरोप है कि महिला के पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में बदलाव के लिए तीन हजार की मांग की गई है। बता दें कि इस पूरी रकम का बंदर बांट पोस्टमार्टम हाउस के कर्मचारियों में बराबर का होता है, जबकि जिले का स्वास्थ्य महकमा इस बात को सिरे से नकार रहा है।

रिपोर्ट- सौरभ गुप्ता

नेशनल आवाज़ फतेहपुर

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision