Latest News

Saturday, February 2, 2019

कानपुर : NSI में छात्र सीख सकेंगे चीनी उत्पादन की बेहतर तकनीक।


कानपुर जिले में स्थित राष्ट्रीय शर्करा संस्थान (NSI) में प्रायोगिक चीनी मिल का पेराई सत्र का गुरुवार से शुभारंभ हुआ। संस्थान के निदेशक प्रो. नरेन्द्र मोहन ने केन कैरियर की शुरुआत की। इस दौरान प्रायोगिक चीनी मिल में शर्करा तकनीकी पाठ्यक्रम के प्रथम वर्ष के छात्र चीनी उत्पादन व प्रक्रिया की जटिलताओं के बारे में व्यवहारिक ज्ञान प्राप्त करेंगे। पेराई सत्र के अवसर पर संस्थान के निदेशक प्रो. नरेन्द्र ने बताया कि प्रायोगिक चीनी मिल छात्रों को व्यवहारिक पेराई का ज्ञान देने के लिए विश्व में किसी भी संस्थान में नही है। यहां पर छात्रों को इस सुविधा का लाभ प्राप्त कर विभिन्न उपकरणों को चलाकर अपने तकनीक, ज्ञान एवं आत्मविश्वास को बढ़ाने में करना चाहिए। NSI निदेशक ने बताया कि इस प्रायोगिक चीनी मिल के चलते संस्थान से निकलने वाले छात्रों की गुणवत्ता बेहतर होती है और उन्हें देश ही नही बल्कि विभिन्न चीनी उत्पादक देशों में वरीयता दी जाती है। यहां छात्रों को नई तकनीकी का ज्ञान देने के लिए मिल में अनेक नये उपकरण मौजूद है। इनमें डायरेक्ट कांटेक्ट जूस हीटर, प्लेट टाइप हीटर, एक्सचेंजर व लोटस रोलर आदि लगाये गये है। छात्रों को तकनीकी ज्ञान के साथ ही मिल का उपयोग संस्थान द्वारा विकसित नये उपकरणों व शोध परीक्षण के लिए किया जाता है। इस पेराई सत्र में ‘स्टिरर लैस जूस सल्फाइटर’ मायशचर कंट्रोल यूनिट’ व ‘सुपर शार्ट रिटेंशन टाइम क्लेरिफायर‘ का परीक्षण भी किया जाएगा। निदेशक ने बताया कि ‘स्टिरर लैस जूस सल्फाइटर’ जहां जूस की बेहतर सफाई, कम ऊर्जा की खपत करने में सक्षम होगा, वहीं ‘मायशचर कंट्रोल यूनिट’ गन्ने की पेराई के बाद निकलने वाली खोई (बैगास) में नमी की मात्रा 50 फीसदी से 45 फीसदी या इससे भी कम करने में सहायक होगा। जिससे कम बैगास से अधिक स्टीम का उत्पादन किया जा सकेगा। इससे ईधन की बचत होगी। जबकि ‘सुपर शार्ट रिटेंशन टाइम क्लेरिफायर‘ से कम समय में जूस से अशुद्धियों को दूर करना संभव होगा। इससे बेहतर गुणवत्ता की चीनी बनाना सम्भव होगा एवं प्रोसेसिंग में चीनी की हानि को भी कम किया जा सकेगा।

रिपोर्ट- मंगल सिंह तोमर

नेशनल आवाज़ कानपुर

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision