Latest News

Friday, February 1, 2019

कानपुर : सरकारी दावे हुए हवाहवाई पोल-नालों का पानी घुसा घरों में।




प्रयागराज में कुंभ के दौरान शहर के सभी नालों को टेपिंग कर उसको डायवर्जन कर दिया गया था। जिससे कुम्भ में श्रद्धालुओं को निर्मल और स्वच्छ जल मिल सके वहीं सीसामऊ नाले को तो बन्द कर दिया लेकिन अब शहर के तमाम नालों की हकीकत सड़को पर देखने को मिल रही है ताजा वाकया देखने को उस वक्त मिला जब ग्रीनपार्क चौराहे पर वीआइपी रोड स्थित  नाला ओवरफ्लो के चलते उसका दूषित पानी सड़को पर बहने लगा जिससे राहगीरों को निकलने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा और वह दूषित पानी लोगों के घरों में जाने लगा क्षेत्रीय लोगों ने इसकी सूचना जल निगम को दी लेकिन कोई भी अधिकारी मौके पर नही पहुंचा वहीं नाले के ओवरफ्लो होने की सूचना पर सपा विधायक अमिताभ बाजपेई पहुंच गए और इस लापरवाही का सरकार के सिर मढ दिया प्रयागराज में कुम्भ शुरू होने से पहले ही सरकार की नज़र में एक ही एजेंडा था वह सीसामऊ नाला जो सबके सपनो में आया करता था। जिसके बाद नमामि गंगे व जल निगम द्वारा इस नाले को बन्द कर उसे डाइवर्जन कर दिया गया। लेकिन शहर की सड़कों पर सीसामऊ नाले का दूषित पानी ओवरफ्लो के चलते सडको पर स्थित छोटे छोटे नालों में उफ़नने लगा जिससे राहगीरों की मुश्किलें बद्व गयी ओवरफ्लो नाले की सूचना पर सपा विधायक अमिताभ बाजपेई ने कड़ी नाराजगी व्यक्त की और जल निगम के अधिकारियों व सरकार को इस लापरवाही का जिम्मेदार ठहराया उन्होंने हल्ला बोलते हुए कहा कि यह बहुत बड़ी धोखाधडी और घोटाले व गबन का मामला सामने आया है। सीसामऊ नाला डायवर्ट तो कर दिया लेकिन शहर में जगह-जगह ओवरफ्लो के चलते नाले उफान पर आ खड़े हुए है इसके लिए अधिकारियों से कहा भी गया लेकिन शायद इन्हें कोई अनहोनी का इंतज़ार है नाले का दूषित पानी से बीमारियां पनपने लगती है क्योंकि यह दूषित पानी से जहरीला गैस निकलती है  जो इस मामले को गम्भीरता से नही ले रहे है। जिसके कारण कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है इस गैस से ब्लास्ट की संभावना भी बढ़ जाती है।

ब्यूरो रिपोर्ट

नेशनल आवाज़ कानपुर

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision