Latest News

Monday, August 13, 2018

1 बड़ौदा बैंक लूटकांड का पुलिस ने किया खुलासा




कानपुर । चार दिन पूर्व नौबस्ता इलाके में बमबाजी कर बड़ौदा बैंक लूटकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया। पुलिस ने लूट की घटना में मुख्य सरगना सहित दो लुटेरों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि एक फरार है। जिसकी तलाश में टीमें लगी हुई हैं।


वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अखिलेश कुमार ने पुलिस लाइन में बीती तीन अगस्त को नौबस्ता के बिनगवां स्थित बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक लूटकांड का खुलासा किया। बताया कि, दिन दहाड़े बाइक से पहुंचे तीन बदमाशों ने छह बम फोड़ते हुए दहशत फैलाने के बाद कैश काउंटर से करीब चार लाख से अधिक की नकदी लूटकर भाग निकले। बदमाशों की पूरी हरकत सीसीटीवी कैमरों के साथ इलाके के कुछ लोगों ने मोबाइल में कैद कर ली। घटना की जानकारी पर पहुचे अपर पुलिस महानिदेशक अविनाश चन्द्र, पुलिस महानिरीक्षक आलोक सिंह समेत उन्होंने मौके पर पहुंचकर जांच की। साक्ष्यों व सीसीटीवी में आए फुटैज के आधार पर पुलिस लुटेरों की तलाश में जुटी। जांच में सामने आया कि लूट करने वालों में गोविन्द नगर के दादानगर निवासी सूरज कुमार विल्सन मैकलीन उर्फ बब्लू डाक्टर शामिल था। जिसकी खोजबीन करते हुए एडीजी, आईजी की विशेष पुलिस बल के साथ क्राइम ब्रांच, स्वाट के साथ नौबस्ता, कल्याणपुर, रेलबाजार, बर्रा, बाबूपुरवा व सर्विलांस की टीमें लगी। घर पर छापेमारी के दौरान पुलिस को उसके घर पर ताला लटका मिला। जिसके बाद पुलिस उसके दूसरे साथी मूलरूप से हमीरपुर के कुरारा निवासी हाल पता आन्नद विहार का रहने वाला मुकेश कुमार को खोजते हुए नौबस्ता के दासू कुआ के पास पहुंची। उसकी घेराबंदी कर रही पुलिस को सरगना सूरज के साथ होने का पता चला और मुठभेड़ की आशंका को भापते हुए साहस का परिचय दिया और बहादुरी के साथ दोनों को पकड़ने में कामयाब हासिल की। जिस वक्त दोनों को पकड़ा गया वह भागने की फिराक में थे। इनके कब्जे से दो तमंचे व लूट की 2.23 लाख रूपये व लूटकांड में इस्तेमाल बाइक बरामद कर ली गई। पूछताछ में तीसरे साथी का नाम अभियुक्तों ने कानपुर देहात के अकबरपुर निवासी राजकुमार बताया है। जिसकी तलाश में पुलिस संभावित ठिकानों में दबिशें दे रही है। जल्द ही उसकी भी गिरफ्तारी कर ली जाएगी। अभियुक्त का आपराधिक रिकार्ड है और कई संगीन अपराधों में पकड़े जा चुकी है। दोनों को जेल भेजते हुए आगे की कार्यवाही की जा रही है। 


लूट की घटना के बाद बदला हुलिया
एसएसपी ने बताया कि लूट के बाद पुलिस से बचने के लिए सरगना सूरज ने हुलिया बदलते हुए मूछे बनवा ली। इसके बाद अगले दिन अखबरों के जरिये उसे जैसे ही पता चला कि तस्वीरें सीसीटीवी आ गई हैं तो उसे आभास हो गया कि पुलिस उसे हर हाल में पकड़ ले गई। जिसके बाद वह लगातार अपने ठिकाने बदलता रहा। लेकिन पुलिस अधीक्षक दक्षिण रवीना त्यागी के नेतृत्व में पुलिस टीमों लगातार प्रयास करते हुए उसके साथ वारदात में शामिल एक साथी को भी गिरफ्तार कर लिया। 


दो माह पूर्व दो बार की रेकी
एसएसपी ने बताया कि लूट की वारदात से पूर्व सरगना सूरज ने खुद बैंक में दो माह पूर्व जाकर सुरक्षा के साथ कैश काउंटर पर नकदी होने की बात पता की। जिसके बाद उसने मुकेश व राजकुमार के साथ लूट की योजना बनाई और तीन अगस्त को वारदात को अंजाम दिया। वारदात से लुटेरें कन्नौज जनपद स्थिति बस स्टैंड के पास कुशवाहा पटाखे की दुकान से बम बनाने के लिए बारूद व अन्य सामग्री लेकर आए थे। जिसके बाद मुकेश ने बम तैयार किये थे। लूट के दौरान सात बम लेकर पहुंचे थे और छह बम फोड़ते हुए वारदात की। लोगों की भीड़ जुटती देख लुटेरों ने एक बम फोड़ने से रोक लिया ताकि अगर जनता उन्हें पकड़ने की कोशिश करती है तो वह बम उन पर मार सके। 
एसएसपी ने बताया कि लुटेरों को रिमांड पर लेकर हाल के दिनों में जनपद के साथ आसपास हो रही बैंक लूट की वारदातों को लेकर पूछताछ की जाएगी। पुलिस के मुताबिक जिले के दक्षिण स्थित इलाकों में कुछ माह से बैंकों के आसपार लोगों से व बैंकों को निशाना बनाया जा रहा है। हो सकता है कि इन लूट की घटनाओं में भी इन्हीं लुटेरों को हाथ हो और इनके गिरोह में अन्य लोग भी शामिल हो। जिनका नाम अभी पुलिस के प्रकाश में न आया हो। इनको रिमांड पर लेने इन सभी बातों की जानकारी की जाएगी। 


No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision