Latest News

Sunday, June 24, 2018

देश के हर क्षेत्र में फैला है भ्रष्टाचार: अधिवक्ता जितेंद्र चौहान - UP SANDESH

कानपुर देहात 24 जून 2018 (अमित राजपूत) पूर्ण ग्राम स्वराज की स्थापना में सबसे बड़ी बाधा,कार्यकारी तन्त्र की जड़ों तक ब्याप्त भ्रष्टाचार और इससे मुक्त न हो पाने की आम जन के मन मे घर कर गयी घोर निराशा है यह बात सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेन्द्र प्रताप सिंह चौहान ने 'पूर्ण ग्राम स्वराज की स्थापना में आमजन की सहभागिता व विधिक जागरूकता' पर सिविल बार एसोसिएशन के तत्वावधान में बी एस एन एल टावर चिराना रनिया कानपुर देहात में आयोजित  चौपाल में कहा। उन्होंने कहा की कहा देश के हर क्षेत्र में भ्रष्टाचार फैला हुआ है,इस भ्रष्टाचार रूपी कलंक से मुक्ति तभी मिलेगी जब गांधी व जयप्रकाश का ग्राम स्वराज का सपना साकार हो,ऐसे आवश्यक है कि आम जन संगठित हो और अपने अधिकारों सहित जनहित की योजनाओं के बारे में जाने और इस पर चर्चा करें और भ्र्ष्टाचार के विरूद्ध संगठित हो कर,आवाज उठाये।जितेन्द्र चौहान ने कहा की, पंचायती राज संस्थाओं के गठन के पीछे का मूल उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों तक विकास योजनाओं को पहुंचाना है और इसी उद्देश्य की पूर्ति हेतु 73 वें संविधान संशोधन के बाद पंचायती राज की विकेंद्रित व्यवस्था में ग्राम पंचायतों के पास अनेक कार्य आ गए हैं,इनमें पंचायती राज के अलावा सर्व शिक्षा अभियान,मिड डे मील, साफ सफाई, हैंडपंपों का रखरखाव,वृद्धावस्था, विधवा, गरीब पेंशन, छात्रवृत्ति वितरण, राशन कार्ड तथा अन्य अनेक योजनाओं के लाभार्थियों का चयन एवं क्रियान्वयन, गांव में सड़क, खड़ंजा, नाली बनवाने  मनरेगा के तहत कराए जा रहे कार्य प्रधान पद के दायित्वों के अंतर्गत आते हैं जिसमे  पारदर्शिता व निष्पक्ष कार्यवाही बिना जनसहभागिता सम्भव नही।कहा की लोकतंत्र में महिलाओं की सहभागिता सिर्फ नाम मात्र की है,वास्तव में भारतीय समाज विशेष उत्तर भारतीय समाज में परिवार की बुनावट ऐसी है, जिसमें महिलाओं की निर्णय क्षमता पर अभी पुरुष प्रभावी हैं.ऐसे में जरूरत इस जागरूकता की गई कि महिलाएं कैसे अपने पतियों को प्रधान पति बनने से रोकें. परिवार के पिता, भाई, पति से संबंध रखते हुए भी खुद निर्णय लेकर विकास नीचे तक पहुचाने में सीधी भूमिका अदा करें।कहा कि राज्य की नौकरशाही, भ्रष्टाचार से जूझते तंत्र,कानूनी दांवपेंच वगैरह से भी लड़ते हुए महिलाओं को अपनी क्षमता साबित करनी होगी।युवा समाजसेवी और अधिवक्ता रवींद्र प्रताप सिंह चौहान ने कहा कि, हमें यह समझने की आवश्यकता है कि, हम में से सभी समाज की अच्छी और बुरी स्थिति के जिम्मेदार है। समाज और देश में कुछ सकारात्मक प्रभावों लाने के लिए हमें अपनी सोच को कार्य रुप में बदलने की आवश्यकता है।कहा की समाज और पूरे देश की समृद्धि और शान्ति के लिए नागरिकों के कर्तव्य बहुत अधिक मायने रखते हैं।एक देश का नागरिक होने के नाते हमें अपने अधिकारों के साथ ही नैतिक और कानूनी रुप से दायित्वों को पूरा करने आवश्यक है और यह दायित्व हम संगठित होकर चर्चाओं का दौर चला कर और बेहतर ढंग से पूरा कर सकते हैचौपाल में हैण्ड पाइप,शौचालय, बृद्धावस्था पेंशन,मृतक प्रमाणपत्र न बनने की समस्या के साथ साथ ही एक गरीब महिला के पित्त में पथरी का ऑपरेशन धनाभाव से न होने की समस्याएं आने पर निदान की जानकारी चौपाल में उपस्थित जन ने कही।अध्यक्षता शिक्षक अरुण त्रिपाठी ने व संचालन विनय दिवाकर सिविल इंजीनियर घडी ग्रुप किया। प्रमुख रूप से संदीप त्रिपाठी अधिवक्ता, राघवेन्द्र सिंह सेंगर, अध्यक्ष फत्तेपुर साधन सहकारी, देवेन्द्र सिंह अध्यक्ष सरवनखेड़ा प्रा शि संघ दीपक चौहान, अधिवक्ता के के सिंह विनय दिवाकर आशिफ खान, ओम प्रकाश मिश्रा, कामिनी द्विवेदी, रेखा कठेरिया, राजेन्द्र दिवाकर, विमल त्रिवेदी, सिकंदरा सिविल बार अध्यक्ष जनमेजय सिंह,शीलू मिश्र, पवन मिश्र, शैलेन्द्र सिंह आदि ने सम्बोधित किया भारी संख्या में ग्रामीण लोग उपस्थित रहे। 


No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision