Latest News

Monday, May 14, 2018

ग्रैपलिंग आत्मरक्षा को सीखने को बच्चों ने दिखाई ललक, सम्मानित किये गए बच्चे - UP SANDESH

कानपुर देहात 14 मई 2018 (विशाल तिवारी) भारतीय सभ्यता से जुड़े खेल मल्लयुद्ध से संबंधित ग्रेपलिंग कुश्ती जो कि अंजनी पुत्र हनुमान एवं पाण्डु पुत्र भीम की भारत की प्राचीन विधा है। इसे बढ़ावा देने के उद्देश्य से व बालिकाओं को सशक्त बनाने के उद्देश्य से तीन दिवसीय ग्रेपलिंग कुश्ती के शिविर का शुभारंभ रूरा थाना अध्यक्ष अमर सिंह ने किया।    



मुख्य अतिथि के रूप में पधारे कानपुर नगर के ग्रेपलिंग एसोसिएशन ऑफ कानपुर महासचिव सुनील चतुर्वेदी तथा उद्घाटनकर्ता थाना अध्यक्ष रूरा अमर सिंह का स्वागत इन्फैंट स्कूल के प्रधानाचार्य शुभम त्रिवेदी ने किया। उक्त कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रबंधक शिव कुमार त्रिवेदी ने की।      

      


बालकों व बालिकाओं को ग्रेपलिंग कुश्ती का प्रशिक्षण नेशनल रेफरी व कोषाध्यक्ष दुर्गेश्वर श्रीवास्तव व नेशनल रेफरी व महासचिव कानपुर देहात विनीत सिन्हा ने दिया। बालिकाओं को  कुश्ती का प्रशिक्षण नेशनल गोल्ड मेडलिस्ट मधु शर्मा ने दिया। प्रशिक्षण में बच्चों को डबल लेग टेक डाउन टेक्निक,प्वाइंट्स व फाउल के बारे में बताया गया, साथ ही कुश्ती के दौरान फर्श पर गिरते समय स्वयं के बचाव के तरीके बताए गए।



प्रशिक्षण शिविर के दौरान पूर्व के खिलाड़ियों को ग्रेप्पलिंग बाउट करा कर बच्चों का उत्साहवर्धन व उनको जागरुक किया गया। जिसकी शुरुआत थानाध्यक्ष अमर सिंह प्रबंधक व विद्यालय प्रिंसिपल तथा ग्रेप्पलिंग एसोसिएशन कानपुर के पदाधिकारियों द्वारा हाथ मिला कर किया गया।



इस अवसर पर नेशनल गोल्ड मेडलिस्ट मधु शर्मा को थानाध्यक्ष रूरा अमर सिंह ने प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया एवं कानपुर देहात के राज्य स्तरीय गोल्ड मेडल विजेता केंद्रीय विद्यालय के छात्र शिवम,पूर्व माध्यमिक विद्यालय सिठमरा की छात्रा मीनाक्षी को थानाध्यक्ष अमर सिंह ने कानपुर देहात का नाम रोशन करने के लिए माला पहनाकर सम्मानित किया। इस अवसर पर पिंटू, गोपी किशन,दिव्या ,रक्षा अगस्तयम त्रिपाठी के साथ साथ दो सौ से अधिक बच्चों ने ग्रेपलिंग का प्रशिक्षण प्राप्त किया।



थानाध्यक्ष रूरा अमर सिंह ने बच्चों को ट्रैफिक नियमों के बारे में भी बताया। बच्चों को बताया गया की पिता के घर से निकलने के पहले उनको हेलमेट की याद जरूर दिलाएं साथ ही ट्रैफिक नियमों के बारे में भी बताएं। 

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision