Latest News

Saturday, May 12, 2018

सिविल बार एसोसिएशन ने लगाया विधिक जागरूकता शिविर - UP SANDESH

कानपुर देहात 12 मई 2018 (अमित राजपूत) स्वशासन के लिए बनी किसी भी संस्था की सफलता के लिए पहली शर्त तो यही है कि उसमें सत्ता सीधे लोगों के हाथ में होनी चाहिए न कि चुने हुए कुछ लोगों के हाथ में, ये बात सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जितेंद्र प्रताप सिंह चौहान ने तहसील सिकन्दरा के ग्राम मानपुर में, सिविल बार एसोसिएशन के तत्वावधान में 'पूर्ण ग्राम स्वराज के लिए विधिक जागरूकता' विषय पर आयोजित विधिक जागरूकता शिविर में कही।जितेन्द्र चौहान ने कहा कि देश व प्रदेश की सरकारों से भारी मात्रा में गांवो के विकास के लिए धन आ रहा है किन्तु आम ग्रामीणों की अपने अधिकारों और कर्तव्यों की उदासीनता से यह धन वास्तविक विकास में न लग भ्रस्टाचार की भेंट चढ़ जाता है। अतः ऐसे विधिक शिविरों के माध्यम से आम ग्रामीणों को ग्राम स्वराज योजना का उद्देश्य पंचायतों एवं ग्राम सभा की क्षमता व प्रभावशीलता में अभिवृद्धि पंचायतों में आम-आदमी की भागीदारी की प्रोन्नति, पंचायतों को लोकतांत्रिक रूप से निर्णय लेने एवं उत्तरदायित्व निभाने हेतु सक्षम बनाना, जानकारी एवं पंचायतों की क्षमतावृद्धि हेतु पंचायतों के संस्थागत ढांचे को मजबूत करना, अधिकारों एवं उत्तरदायित्वों का पंचायतों को सुपुर्दगी, पंचायती राज व्यवस्था के अन्तर्गत जन सहभागिता, पारदर्शिता एवं उत्तरदायित्व को सुनिश्चित करने हेतु ग्राम सभाओं का सुदृढ़ीकरण तथा संवैधानिक व्यवस्था के पंचायतों को सशक्त रूप देने हेतु पूर्ण जागरूक करना है। कहा कि  सरकारी योजनाओं के लिए सीधे तौर पर दलितों, गरीबों और वंचितों को लाभान्वित करना होगा। 


चौहान ने पूर्ण ग्राम स्वराज की स्थापना में विधिक सेवा प्राधिकरण की महती पहल की आवश्यकता पर भी बल देते हुए कहा कि जिले में स्थायी रूप से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव की नियुक्ति राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा की जा चुकी है। जिनके माध्यम से इस विषय पर सक्षम जागरूकता आयोजन के लिए वह उनसे अनुरोध करेंगें। इस अवसर पर तहसीलदार सिकन्दरा सर्वेश सिंह गौर ने ग्रामीणों को शासन की योजनाओं व  उन्हें प्राप्त करने के तरीकों की जानकारी देते हुए कहा कि आवश्यकता बिचौलियों दलालो से दूर रह सीधे शासन प्रशासन से जुड़ कार्ययोजनाओं से जुड़ने की है। 


श्री गौर ने शासन की योजनाओं के बारे में बताते हुए कहा कि गांव में बिजली के फ्री कनेक्शन, गैस के कनेक्शन, गरीबों को आवास के कब्जे मिले, राशन कार्ड बने, विधवा, दिव्यांग और वृद्धा पेंशन को हाथों-हाथ मंजूरी मिल गई। गरीबों को आवास बिना किसी भेदभाव के मिल रहे हैं। इस अवसर पर उपस्थित ग्रामीणों ने बिना उपभोग भारी बिद्युत बिल आने, पानी की टँकीयों से पानी न आने, साफ सफाई, पर्याप्त दूरी पर हैण्ड पाइप न लगे होने, बिजली के के खम्बे उखड़े होने, बिजली तार टूटे होने, शिकायत के बाद भी पटटे की भूमि की नाप न करने, विधवा पेंशन आदि की शिकायत पर तहसीलदार स्री गौर ने इस पर सक्षम समाधान अति शीघ्र करा देने के साथ ही, तहसील विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव होने के नाते इस स्तर पर अपने समस्त दायित्वो को निभाते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशों का पालन करने की बात कही और जिला आम जन के प्रति विधिक सेवा प्राधिकरण से प्राप्त होने वाले लाभों को बताया। संचालन तहसील सिकन्दरा सिविल बार एसोसिएशन के अध्यक्ष जनमेज सिंह ने किया। 


शिविर में प्रमुख रूप से महेन्द्र पल, विनोद कटियार, प्रोफेसर सजंय पाल, कमलेश, अरविन्द, राजबहादुर प्रजापति, अरविन्द, सन्तराम, ब्रजकिशोर , गीता देवी, रामश्री, चमेली, रामकली, उमा शंकर, रणजीत पाल व राजस्व निरीक्षक नरेन्द्र कुमार आदि मौजूद रहे।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision