Latest News

Monday, February 26, 2018

रेलवे पार्सल में दलालों का आतंक जारी नियमों पर दलाल चला रहे आरी


27/02/2018
-----------------------
पब्लिक स्टेटमेंट न्यूज़
--------------------------------
रिपोर्ट:-दिग्विजय सिंह
-------------------------------
नाम का वाणिज्य कर विभाग

रेलवे पार्सल में दलालों का आतंक जारी नियमों पर दलाल चला रहे आरी

कानपुर:-सरकार ने सरकारी नियमों का पालन कड़ाई से करने के अथक प्रयास किये पर नतीजा ज्यों का त्यों ही बना है। हम बात कर रहे है कानपुर सेंट्रल रेलवे  के पार्षल कार्यालय में दलालों के आतंक की जहां आज भी दलालों का ही आधिपत्य कायम है। हां बीच बीच में वाणिज्य कर विभाग के कर्मचारी व रेलवे के कर्मचारी कार्यवाही के नाम पर लोगों को बरगलानें के लिये  छापा मारते है ताकि उनकी इस मिली भगत को जनता समझ न पाये पर जनता जनताजनार्दन से कोई बात छुपी नहीं है।

गत दिनों पहले वाणिज्य कर विभाग ने पार्सल कार्यालय में सैकड़ों कर्मचारियों के साथ मिलकर औचक छापा मारा था । जिसमें लगभग 450बोरे माल भी जप्त कर लिया गया था । वाणिज्य कर विभाग ने ये सराहनीय कार्य किया पर अब वाणिज्यकर विभाग पर फिर से प्रश्नचिन्ह ?लग रहा है की क्या पार्सल कार्यालय में कोई सुधार आया ?क्या अब पार्सल में सारा काम ईमानदारी से होता है ?नहीं ऐसा केवल सरकारी पन्नों में ही लिखा जाता है की अब सबकुछ ठीक है पर क्या ये सत्य है। नहीं.
पार्सल कार्यालय में फिर से दलालों का आतंक फैल गया है फिर से मसालों के बोरे बगैर टिकट ट्रेन में सफर कर रहे है। जब हमने सम्बंधित अधिकारियों से फोन पर जानकारी करनी चाहिे तो सभी ने गोल मोल बात बताई उनमें से एक कर्मचारी ने ये तक कह दिया की मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं है। इससे ये प्रतीत होता है की मामला संदिग्ध है। जिस विभाग ने गत दिनों इतनी बड़ी कार्यवाही की हो वो अचानक शांत बैठ जाये और जानकारी देने में ये कहे की हमें कोई जानकारी नहीं तो ये समझ लेना चाहिये की जरूर दाल में कुछ काला है या पूरी दाल ही मसूर की दाल की तरह काली है।
कानपुर:-सरकार ने सरकारी नियमों का पालन कड़ाई से करने के अथक प्रयास किये पर नतीजा ज्यों का त्यों ही बना है। हम बात कर रहे है कानपुर सेंट्रल रेलवे  के पार्षल कार्यालय में दलालों के आतंक की जहां आज भी दलालों का ही आधिपत्य कायम है। हां बीच बीच में वाणिज्य कर विभाग के कर्मचारी व रेलवे के कर्मचारी कार्यवाही के नाम पर लोगों को बरगलानें के लिये  छापा मारते है ताकि उनकी इस मिली भगत को जनता समझ न पाये पर जनता जनताजनार्दन से कोई बात छुपी नहीं है।

गत दिनों पहले वाणिज्य कर विभाग ने पार्सल कार्यालय में सैकड़ों कर्मचारियों के साथ मिलकर औचक छापा मारा था । जिसमें लगभग 450बोरे माल भी जप्त कर लिया गया था । वाणिज्य कर विभाग ने ये सराहनीय कार्य किया पर अब वाणिज्यकर विभाग पर फिर से प्रश्नचिन्ह ?लग रहा है की क्या पार्सल कार्यालय में कोई सुधार आया ?क्या अब पार्सल में सारा काम ईमानदारी से होता है ?नहीं ऐसा केवल सरकारी पन्नों में ही लिखा जाता है की अब सबकुछ ठीक है पर क्या ये सत्य है। नहीं.


पार्सल कार्यालय में फिर से दलालों का आतंक फैल गया है फिर से मसालों के बोरे बगैर टिकट ट्रेन में सफर कर रहे है। जब हमने सम्बंधित अधिकारियों से फोन पर जानकारी करनी चाहिे तो सभी ने गोल मोल बात बताई उनमें से एक कर्मचारी ने ये तक कह दिया की मुझे इसकी कोई जानकारी नहीं है। इससे ये प्रतीत होता है की मामला संदिग्ध है। जिस विभाग ने गत दिनों इतनी बड़ी कार्यवाही की हो वो अचानक शांत बैठ जाये और जानकारी देने में ये कहे की हमें कोई जानकारी नहीं तो ये समझ लेना चाहिये की जरूर दाल में कुछ काला है या पूरी दाल ही मसूर की दाल की तरह काली है।

No comments:

Post a Comment

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision