Latest News

National News
Crime News

Social News

Uttar Pradesh

International

Politics

Recent Posts

Monday, July 13, 2020

कानपुर : बिना मास्क के घूम रहे लोगों का किया गया चालान और उन्हें हिदायत दी गई की लापरवाही ना बरतें और बिना किसी काम के घर से बाहर ना निकलेे




रिपोर्ट - शिवम् सविता

 कानपुर - नौबस्ता थाना क्षेत्र के अंतर्गत गल्ला मंडी चौकी प्रभारी चौकी प्रभारी उदय प्रताप ने चौकी का चार्ज संभालते ही चेकिंग अभियान शुरू कर दिया जिसमें क्षेत्र में बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगों का चालान किया गया और उन्हें सख्त हिदायत दी गई की लापरवाही ना बरतें और बिना किसी काम के घर से बाहर ना निकले खुद को सुरक्षित रखें और प्रशासन का सहयोग करें । चौकी का कार्य संभालते ही चेकिंग अभियान शुरू कर दिया जिसमें आज सोमवार को नौबस्ता बंबा चौराहे पर बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगों पर पुलिस प्रशासन ने उनका चालान किया जिसके बाद उन सभी को सख्त हिदायत दी गई कि तथा मास्क अवश्य लगाएं वाहन चालकों को बिना हेलमेट निकलने पर उनका चालान किया गया। लगभग 3 दर्जन से ज्यादा लोगों का इस अभियान के अंतर्गत चालान हुआ चौकी प्रभारी उदय प्रताप आशीष यादव सुरेंद्र कुमार लल्लू यादव और अन्य पुलिसकर्मियों ने चेकिंग अभियान को बड़ी ही मुस्तैदी के साथ सफल बनाया।

कानपुर के इस ऐतिहासिक मंदिर में अदभुत शक्तियां , जहां दिन में तीन बार रंग बदलता है शिवलिंग



स्पेशल स्टोरी- शिवम् सविता

श्रवण मास चल रहा है और देश भर में बाबा के बम-बम भोले के जयकारे लग रहे हैं।

कानपुर। श्रवण मास चल रहा है और देश भर के शिव मंदिरों में बम-बम भोले के जयकारे लग रहे हैं। भक्त भगवान शंकर के दरबार पर आकर माथा टेकते हैं और दुख-दर्द के साथ अमन-चैन की दुआ मांगते हैं। एक ऐसा ही एतिहासिक मंदिर है, जो कानपुर के गंगा के किनारे पर स्थित है,  जिसे भक्त जागेश्वर धाम के नाम से पुकारते हैं। मान्यता है कि मंदिर परिसर पर विराजी शिवलिंग दिन में तीन बार रंग बदलता
है। जागेश्वर मंदिर के लोगो के मुताबिक शिवलिंग सुबह के वक्त भूरे, दोपहर में ग्रे और रात में काले रंग में तब्दील हो जाता है। प्राण कहते हैं कि जागेश्वर महादेव अपने भक्तों को  इन्हीं रूपों में दर्शन और आर्शीवाद देते हैं। 

ये है मंदिर का इतिहास

मंदिर के पुजारी ने बताया कि सैकड़ों साल पहले यहां भीषण जंगल हुआ करता था  और गांववाले अपने मवेशी चराने के लिए आया करते थे। सिंहपुर कछार निवासी ग्वाले के पास कई दर्जन गायें  थीं। वो उन्हें  चराने के लिए इसी टीले पर लाया करता था। जग्गा के पास एक दुधारू गाय थी, जो शाम को घर पहुंचने पर दूध नहीं  देती। ग्वाले ने इसकी पड़ताल की तो उसके पैरों के तले से जमीन खिसक गई। गाय टीले  पर आकर  दूध गिरा  रही  थी। ग्वाले ने ये जानकारी गांववालों को दी और लोगों ने खुदाई शुरू की तो एक शिवलिंग मिला। गांववालों ने विधि-विधान से पूजा-पाठ के बाद उसे यहीं पर स्थापित कर किसान के नाम से मंदिर का नाम जागेश्वर रख दिया। तो उसकी भाग्य के दरबाजे खुले मंदिर के पुजारी  की माने तो जो भक्त श्रवण मास के शुभ अवसर  पर जागेश्वर महादेव के दर्शन करता है,उसके पास दुख-दर्द नहीं भटकता। पुजारी ने बताया कि  शिवलिंग के तीनों  स्वरूपों के दर्शन के लिए  भक्त को पूरे दिन मंदिर परिसर पर गुजारना होता है। जिसने  भी भगवान जागेश्वर के तीनों रूपों के दर्शन एकबार कर लिए धन-धान के साथ ही मरते हुए इंसान के प्राण वापस आ जाते हैं। पुजारी बताते हैं कि जागेश्वर के दर्शन के लिए नानराव पेशवा और लक्ष्मी बाई के साथ मैना मंदिर,  परिसर से कुछ  दूरी पर एक सुरंग थी,  इसी के जरिए भी आया करती थीं। सावन के आखरी सोमवार को  मंदिर के  अखाड़े में कुश्ती होती है, इसमें लक्ष्मी बाई बड़े-बड़ों को पटखनी देकर पुरूस्कार ले जाया  करती  थीं। कानपुर का  एकलौता मंदिर  है, यहां पर  सैकड़ों साल से नगापंचमी पर्व पर सांपों का मेला लगता  है। मंदिर के  पुजारी कहते हैं, इसके पीछे भी एक रहस्य छिपा  है। बताते  हैं, यहां नाग  और  नागिन  को जोड़ा  कई सालों से रह रहा  है और  मंदिर के पट  खुलने  से  पहले वो पूजा-अर्चना  करने के  बाद  विलुप्त  हो जाते  हैं। पुजारी  कहते हैं कि  25 साल  पहले हमने  नाग-नागिन के जोड़े को देखने के लिए रात से मंदिर के बाहर  बैठ गए।  भारे  पहर  करीब 4 बजे दो  नाग  दिखे  और  मंदिर  की सीढ़ी  चढ़ते  हुए  शिविंलग  के पास  जाकर  परिक्रमा करने  के बाद  चुपचाप  निकल गए।  मंदिर के कर्मचारियों ने दोनों को कईबार देखा  है, लेकिन उन्होंने किसी को आज  तक हानि  नहीं पहुंचाई। वो  जागेश्वर की रखवाली करते हैं।

कानपुर : जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी की कानपुर नगर इकाई ने क्षेत्रीय कार्यालय में ढोल नगाड़े बजवाकर बांटी मिठाई



रिपोर्ट - शिवम् सविता

कानपुर- उत्तरप्रदेश में मंत्रियों को परामर्श देने वाली 30 स्थायी समितियों में एमएलसी कुंवर अक्षय प्रताप सिंह ( गोपाल जी ) को नामित किया गया। विधान परिषद के सभापति ने समितियों के सदस्यों के नामों को जारी किया । क्षेत्रीय विकास स्थायी समिति में गोपाल जी के साथ 4 अन्य को भी शामिल किया गया ।
इसी क्रम में जनसत्ता दल लोकतांत्रिक पार्टी की कानपुर नगर इकाई ने क्षेत्रीय कार्यालय में ढोल नगाड़े बजवाकर मिठाई बांटी । जिसमे कानपुर नगर के सभी पदाधिकारी मौजूद रहे ।
नगर अध्यक्ष रमनबाबू चौरसिया के नेतृत्व में आज नगर कार्यालय में सभी पदाधिकारी मौजूद रहे और जश्न मनाया । युवा प्रकोष्ठ अध्यक्ष जितेंद्र सिंह चौहान  ने बताया कि रामादेवी स्थित कार्यालय में मिठाई बांटकर खुशी जाहिर की गयी और ढोल बजाकर जश्न मनाया गया ।
कार्यक्रम में राजा सिंह राजावत , विनय पाण्डेय , दिलीप सिंह , जितेंद्र राठौर , मुकेश तोमर , अशोक तोमर, अमरदीप , रिंकू गौतम , राघवेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे।

Sunday, July 12, 2020

कानपुर : न्यायालय को बता धत्ता, मांग रही गुजारा भत्ता



रिपोर्ट - शिवम् सविता

   आवाज ऐ होप फ़ॉर मेन (NGO) कानपुर नगर उत्तर  प्रदेश जोकि पत्नी पीड़ित पुरुषों की सहायता करता  है और पुरुष हित में कार्य करता  है झूठे  वैवाहिक मुकदमें जैसे दहेज उत्पीड़न, घरेलू हिंसा, जैसे मुकदमों में फंसे पुरुष जो प्रताड़ित होते हैं इनको कानूनी सलाह और मानसिक तनाव से दूर रखने में सहायता करती है। जैसे कि आज के समय में हमारे देश में प्रतिदिन कई पुरुष आत्महत्या कर रहे हैं और वजह होती है  झूठे मुकदमों की वजह से मानसिक प्रताड़ना । संस्था का मुख्य उद्देश्य ये  है कि कोई भी पुरुष आत्महत्या ना करें ।
 संस्था के अध्यक्ष(संस्थापक) अनुज तिवारी जी ने बताया कि संस्था की तरफ से एक आंदोलन चलाया जा रहा है पत्र अभियान आंदोलन* जिसमें कि महिला कानून के तहत न्यायालय द्वारा दिलाया जा रहे गुजारा भत्ता कानून में संशोधन के लिए पत्र अभियान आंदोलन 1 जुलाई से 15 जुलाई तक चलाया जा रहा है इस अभियान से जुड़ने के लिए हमारी संस्था से संपर्क करें टोल फ्री नंबर 18 00 212 37 37 37आयोजन कर्ता श्री अनुज तिवारी जी अध्यक्ष(संस्थापक), श्री आर्यन मित्तल जी प्रबंधक, अमरिंदर सिंह लांबा जी महामंत्री, दीपक साहू कानपुर प्रांत अध्यक्ष, श्री कृष्ण सोनकर कानपुर मंडल अध्यक्ष, मनीष कुशवाहा कानपुर जिला अध्यक्ष, श्री श्याम जगोता संरक्षक ।*

महनीपुर गांव में देर रात घर के बाहर लगे बिजली के पोल में करेंट की चपेट में आकर सिक्योरिटी गार्ड की हुई मौत



रिपोर्ट - शिवम् सविता

कानपुर : भीतरगांव साढ़ थाना क्षेत्र के माधवपुर मजरा अमौर गांव में एक युवक की खंबे से लगे अर्थिंग के तार में अचानक करंट उतरने के कारण चिपक कर मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक कस्बा माधवपुर निवासी कैलाश यादव 38 पुत्र सूबेदार सिंह रात लगभग 10 बजे जैसे ही लघुशंका के लिए उठा और घर के बाहर लगे खम्भे के पास आया तो लटक रहे अर्थ वायर की चपेट में आ गया तेज चीख की आवाज सुन पत्नी व पड़ोसी दौड़े तो उसे गंभीर हालत में देख उसे सीएचसी भीतरगांव ले गए जहाँ से उसे हैलट रेफर किया गया।रास्ते मे ही घायल युवक की मौत हो गयी। मौत की खबर से अनजान दो माह की बच्ची पारुल एक कोने में पड़ी बिलख रही थी जबकि कौशकी 3,पलक डेढ़ वर्ष,मृत पिता को अपलक निहार रहे थे।पत्नी विमला का भी रो रोकर बुरा हाल था।सूचना पर पहुंचे स्थनीय चौकी इंचार्ज कृष्णमोहन ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।बताते चले विधुत विभाग की लापरवाही के चलते ग्रामीण क्षेत्रों में आये दिन हादसे होने के बाद भी विभाग आंखों पर पट्टी बांधे हुए है।

शुक्रवार रात से 55 घंटे के लॉकडाउन के बाद अब हर हफ्ते में दो दिन का लॉकडाउन करने का निर्णय लिया गया है। मिनी लॉकडाउन के तहत प्रदेश में अब सिर्फ पांच दिन कार्यालय तथा बाजार खुलेंगे



ब्यूरो रिपोर्ट

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के प्रसार पर नियंत्रण करने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने अब नया फॉर्मूला खोजा है। प्रदेश में शुक्रवार रात से 55 घंटे के लॉकडाउन के बाद अब हर हफ्ते में दो दिन का लॉकडाउन करने का निर्णय लिया गया है। मिनी लॉकडाउन के तहत प्रदेश में अब सिर्फ पांच दिन कार्यालय तथा बाजार खुलेंगे। यानी कोरोना के संक्रमण काल तक प्रदेश में फाइव डे वीक के तहत काम होगा। 



योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोरोना संक्रमण के प्रसार पर बेहतर नियंत्रण करने के लिए प्रदेश के हर जिले में अब हर हफ्ते के शनिवार को कंपलीट लॉकडाउन का फैसला लिया है। इसके तहत आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अब सब बंद रहेगा। कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने अब बड़ा फैसला लिया है। प्रदेश में लागू होगा मिला लॉकडाउन का फॉर्मूला। प्रदेश में अब हर हफ्ते वीकेंड लॉकडाउन लगेगा। जिसके तहत हफ्ते में दो दिन सभी दफ्तर के साथ बाजार बंद रहेंगे। अब हर शनिवार व रविवार को वीकेंड लॉकडाउन होगा।

कोरोना वायरस को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार ने फाइव-डे वीक फॉर्मूला लागू किया है। यानी हर शनिवार तथा रविवार को सभी दफ्तर व बाजार बंद रहेंगे। यह फॉर्मूला लम्बे समय तक चलेगा। प्रदेश में सभी कार्यालय तथा बाजार सोमवार से शुक्रवार तक खुलेंगे। कोरोना वायरस को लेकर यूपी सरकार ने अब नई रणनीति तैयार की है। अब शनिवार व रविवार को प्रदेश सरकार के कार्यालय के साथ ही सभी ऑफिस भी बंद रहेंगे। जिला स्तर पर डीएम को भी नियम बनाने की छूट दी गई है। वह बाजारों को लेकर नियम बना सकते हैं।

प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में रोजाना बढ़ोतरी हो रही है। इसको देखते हुए योगी आदित्यनाथ सरकार पहले 55 घंटा यानी बीते शुक्रवार से सोमवार सुबह पांच बजे तक लॉकडाउन भी घोषित किया है। अब अगले हफ्ते से शनिवार व रविवार को भी लॉकडाउन रहेगा।

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision