Latest News

National News
Crime News

Social News

Uttar Pradesh

International

Politics

Recent Posts

Friday, July 31, 2020

नारी शक्ति वूमेन एम्पॉवर एवं मुस्कुराए कानपुर के तहत "नारी शक्ति... द्वारा "आत्मनिर्भर" प्रशिक्षित बहनों के हाथों से बनाई स्नेहिल धागों से निर्मित राखियां



रिपोर्ट - शिवम् सविता


रक्षाबंधन त्यौहार पर बहनें अपने भाईयों के लिए राखियां खरीदकर लाती हैं एक तरह से प्रतिस्पर्धा का भाव भी देखने में आता है। किसकी राखी अच्छी है। यह होड भी इस त्योहार पर देखने में आती है। छोटी उम्र के भाई तो छोडिए कई बार बडे भाई भी अपनी मर्जी की राखी बंधवाना पसंद करते हैं और बहनों को मनपसंद की राखी बताकर बाजार में लेने भेजते हैं।  राखी बनाई हैं वे डिजाइनर नारी शक्ति  वूमेन एम्पॉवर एवं  मुस्कुराए कानपुर  के तहत जिन बहनों ने राखियां बनाई है वह राखियों की तुलना में कहीं से कम नहीं हैं। उन्हें चमक दमक के साथ तैयार किया गया है।  नारी शक्ति  वूमेन एम्पॉवर एवं  मुस्कुराए कानपुर  के तहत नारी शक्ति  वूमेन एम्पॉवर की सदस्य कविता दीक्षित ने बताया कि आत्मनिर्भर बहनों ने इस रक्षा पर्व के लिए अपने हाथों से राखियां बनाई है। यह राखियां भले ही मशीन से नही बनाई गई, पर इनमें उस जज्बे की झलक है जो आत्मनिर्भर को कमतर साबित करता है। रक्षा बंधन का त्योहार मनाया जा रहा है और बहनें भाइयों की कलाइयों पर राखी बांध रही हैं। एक से बढ़कर एक राखियां कलाइयों पर सजाई जा रही हैं। कोई अपने भाई को रेशम की डोर बांध रहा है तो कोई सोने, चांदी औंर दूसरे रत्नों की राखियां। रक्षा बंधन का त्योहार मनाया जा रहा है और बहनें भाइयों की कलाइयों पर राखी बांध रही हैं। एक से बढ़कर एक राखियां कलाइयों पर सजाई जा रही हैं। कोई अपने भाई को रेशम की डोर बांध रहा है तो कोई सोने, चांदी औंर दूसरे रत्नों की राखियां। नारी शक्ति  वूमेन एम्पॉवर एवं  मुस्कुराए कानपुर  के तहत दिनांक 31 जुलाई को सन्नी हॉस्पिटल आवास विकास कल्याणपुर में आत्मनिर्भर प्रशिक्षित बहनों के स्नेहिल धागो से निमित्त राखी का कार्यक्रम किया गया। "नारी शक्ति...."आत्मनिर्भर",   कि अपने पहले कदम के सपने को साकार करने की कोशिश की है। नारी शक्ति वुमैन एम्पॉवर द्वारा प्रशिक्षित बहनों के स्नेहिल धागों से निर्मित राखियाँ, घर की सजावट की सामग्री  और चॉकलेट इत्यादि आप सबके लिए बनाई गई है । नारी शक्ति  वूमेन एम्पॉवर एवं  मुस्कुराए कानपुर  के तहत  उन  लड़कियों से राखी बनवाई गई है जो  इस लॉकडाउन में घर बैठे ही आत्मनिर्भरता की सोंच के साथ आगे कदम बढ़ाना चाहती थी और उन महिलाओं , छात्राओं के पास  कमाई का कोई  ज़रिया नहीं है। नारी शक्ति  वूमेन एम्पॉवर एवं  मुस्कुराए कानपुर  के तहत यह प्रण लिया गया कि क्यों ना  हम सब मिलकर  उनको  आत्मनिर्भर  बनाने का  एक मौका  प्रदान किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉक्टर सुधांशु राय, श्री गोपाल तुलसियान, पूजा गुप्ता, डॉक्टर काम्ययनी शर्मा, अनुराधा सिंह,
नारी शक्ति वीमेन एमपाॅवर की सदस्य कविता दीक्षित, मोनिका सविता, रेणु वर्मा, तनुज पंकज, संध्या शर्मा, सुनीता चौधरी जी,प्रभा पांडेय ,संगीता ,नीतू श्रीवास्तव,ममता श्रीवास्तव, आयुषी कटियार आदि उपस्थित रहे।

Thursday, July 30, 2020

जब आपको यह महसूस हो जाए कि आपकी जिंदगी अब कुछ ही पलों की है तो उनका वह अनुभव अदभुत होता है। लोगों को यह जानने की जिज्ञासा कम नहीं होती कि आखिर मृत्‍यु के बाद क्‍या होता ..



स्पेशल स्टोरी- शिवम् सविता

 मौत से हर कोई डरता है लेकिन मौत का अनुभव व्यक्ति को जीवन की सच्चाई बता जाता है। लोगों को यह जानने की जिज्ञासा कम नहीं होती कि आखिर मृत्यु के बाद क्या होता है। ऐसे लोग भी हुए हैं जिन्हें मृत्यु का पहले से ही आभास हो गया था। यहां आपको ऐसे आभासों और अनुभवों के बारे में बताने जा रहे हैं जो कि मृत्यु के तुरंत पहले महसूस किए जाते हैं। जब आपको यह महसूस हो जाए कि आपकी जिंदगी अब कुछ ही पलों की है तो उनका वह अनुभव अदभूत होता है।

मृत्यु पूर्व आभासों के बारे में अलग-अलग तरह से उल्लेख मिलता है। बहुत लोग मृत्युपूर्व आभासों को नहीं मानते। लेकिन साइंस ने इस बात पर मुहर लगा दी है कि मरने के कुछ पल पहले इंसान कुछ सोचता है।

वैज्ञानिकों द्वारा किए सर्वे के मुताबिक मौत के पास पहुंचकर जो अनुभव होते हैं वे एक व्यक्ति का भौतिक दुनिया से जुड़ाव तो कम करते ही हैं साथ ही उसे उस रास्ते पर चलने के लिए भी प्रेरित करते हैं जो आत्मा को गंतव्य स्थान तक पहुंचाता है।

मौत के करीब पहुंच व्यक्ति शरीर के साथ आत्मा के मरने का भी अनुभव करता है। कई बार ऐसी घटनाएं घटित होती हैं जब मौत के मुंह में पहुंचने के बाद व्यक्ति को जीवनदान मिल जाता है। आपने ऐसे भी कई किस्से सुने होंगे जब अंतिम संस्कार के समय ही व्यक्ति दोबारा जीवित हो उठता है। इन्हीं लोगों के साक्षात्कार के आधार पर प्राप्त परिणामों को वैज्ञानिकों ने अपने शोध की स्थापनाएं बनाया है।

*आत्मा को उड़ते देखा*

ऐसे कुछ किस्सों में से एक है अमेरिका में रहने वाली एक महिला जोकि वेंटिलेटर पर अपनी आखिरी सांसे ले रही थी। इस महिला की आंखों की रोशनी बहुत कमजोर थी, बावजूद इसके उसने महसूस किया कि अपने पीछे रखी मशीन पर लिखे अंक देख पा रही है। यही नहीं उसने खुद को ऊपर की ओर उड़ता हुआ देखा। कुछ देर बाद उसकी आत्मा ने फिर से शरीर में प्रवेश कर लिया। डॉक्टरों के अनुसार वह किसी भी क्षण मर सकती थी लेकिन मृत्यु के समीप पहुंचकर वापस आ गई। इसे विज्ञान की भाषा में आउट ऑफ बॉडी एक्सपीरियेंस कहा जाता है।

कानपुर : कल्याणपुर थाने के एक दरोगा सहित पांच सिपाही भी आए कोरोना की चपेट में



रिपोर्ट - शिवम् सविता

कानपुर - कोरोना का कहर थमने का नाम नही ले रहा है कानपुर लगातार कोरोना का ग्राफ बढ़ता ही जा रहा है। कोरोना वारियर्स भी इसकी चपेट में आते जा रहे है बुधवार को आई रिपोर्ट में कल्याणपुर थाने के भी एक दरोगा सहित पांच सिपाही भी इसकी चपेट में आ गये वही। सभी को हैलट कोविड अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

शहर में लगातार कोरोना का खतरा बढ़ता जा रहा है इसके बावजूद अभी भी लोग बिना मास्क के सड़को पर घूमते नजर आ रहे है । कोरोना की चपेट में कोरोना वॉरियर्स भी आते जा रहे तीन दिन पूर्व कल्यानपुर थाने के पुलिस कर्मियों के सैम्पल लिये गये थे जिसके बाद बुधवार शाम को आई कोरोना रिपोर्ट में कल्यानपुर थाने के एक दरोगा सहित पांच लोगों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने से थाने में हड़कम्प मच गया । जिसके बाद सभी हो उपचार के लिये हैलट में बने कोविड अस्पताल में उपचार के लिये भर्ती कराया गया जहाँ वही थाने परिसर को बैरिकेटिंग लगाकर सील कर दिया और थाना परिसर को सेनेटाइजेशन का काम कराया जा रहा है।

Wednesday, July 29, 2020

औरैया : दिबियापुर में पत्रकार का अपरहण कर उसकी कार, मोबाइल आदि लेकर बदमाश फरार



अपहृत पत्रकार को रसूलाबाद थाना क्षेत्र के जंगलात में छोड़ कर पत्रकार की नई हुंडई औरा कार व नगदी, दो मोबाइल व बैग लेकर बदमाश हुए फरार
कानपुर देहात
औरैया जनपद के थाना दिबियापुर कस्बे में उस समय सनसनी फैल गई जब देर शाम 9:00 बजे के करीब ग्रीन वैली स्कूल के पास एक न्यूज़ चैनल आपरेशनल हेड व ऑल इंडियन रिपोर्टर्स एसोसिएशन के मण्डल संगठन मंत्री पत्रकार प्रशान्त कुमार पुत्र मनोज कुमार निवासी नेहरू नगर दिवियापुर को तीन अज्ञात बदमाशों ने उनकी ही कार में अगवा कर बंधक बना लिया। अपहृत पत्रकार प्रशांत कुमार ने औरैया पुलिस को बताया कि वह अपना कामकाज निपटाने के बाद घर जा रहे थे तभी ग्रीन वैली स्कूल के पास एक मोटरसाइकिल पर सवार तीन लोगों ने उन से औरैया जाने का रास्ता पूछा और इसी बीच उन बदमाशों ने कट्टे के बल पर उनको गाड़ी में ही बंधक बना लिया और इधर उधर भटकाने के बाद आँखों मे पट्टी बांधकर अज्ञात रास्ते होते हुए बदमाश कही ले गये, प्रशान्त कुमार को उक्त तीनों बदमाश गाड़ी में बराबर मारपीट करते रहे तथा बदमाशो ने जान से मारने का भी प्रयास किया। रसूलाबाद थाना क्षेत्र के वैरगरा गाँव से आगे जंगल में वह पेशाब करने के बहाने से गाड़ी से उतरा इसके बाद उक्त बदमाशों ने उसे जंगल में जान से मारने का प्रयास किया तो कट्टा फायर ना कर सका और मिस हो गया और गुस्साए बदमाश उसके साथ मारपीट कर उनकी नई सफेद रंग की हुंडई औरा कार, नगदी दो मोबाइल, बेग व अन्य सामान लेकर फरार हो गए। जंगल मे दूर दिख रही रोशनी की तरफ चलते चलते रात्रि वह वेरगरा ग्राम पहुंचा जहां पर ग्रामीणों को घटना की जानकारी देते हुए मोबाइल से बात कराने का निवेदन किया। जहां के ग्रामीणों ने उसे मोबाइल देकर एसपी औरैया तथा संबंधित थाना प्रभारी को घटना की सूचना देते हुए डायल 112 पर सूचित किया।
 मौके पर पहुंची थाना रसूलाबाद पुलिस व औरैया दिबियापुर पुलिस ने देर रात्रि तक घटना की छानबीन करने में जुटे रहे। वहीं घटना के बाबत अपरपुलिस अधीक्षक औरैया कमलेश दीक्षित ने बताया पत्रकार के साथ हुई घटना के मामले को गम्भीरता से लेते हुए पुलिस जांच में करने में जुटी हुई है कि अपहृत रसूलाबाद- कैसे कैसे पहुचा उन बिंदुओं की गहनता से पुलिस जांच कर रही व फिलहाल पुलिस घटना के हर बिंदुओ की गहनता से जांच करने में जुटी हुई है।

वही दूसरी तरफ पत्रकार हितों के लिए सदैव तत्पर रहने वाले विश्व के सबसे बड़े पत्रकार संगठन ऑल इंडियन रिपोर्टर्स एसोसिएशन के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने घटना को त्वरित संज्ञान में लेते हुए अपने कानपुर के पदाधिकारियों की भी एक टीम पीड़ित पत्रकार के सहयोग के लिए औऱया भेजी गई।
उक्त घटना के घटित होने पर पत्रकार संगठन के सदस्यों में रोष व्याप्त है। ऑल इंडियन रिपोर्टर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने कहा की घटना के जल्द से जल्द खुलासा करने के संबंधित उत्तरप्रदेश के मुखिया के नाम ज्ञापन, मंडलायुक्त, जिलाधिकारी व कप्तान को दिया जाएगा। आगे जरूरत पड़ने पर सख्त रवैया भी अपनाया जा सकता है।

कानपुर : नाराज अधिवक्ता संघ ने कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर धरने पर बैठ कर किया विरोध जाहिर



रिपोर्ट - शिवम् सविता

देशभर में कोरोना वायरस की महामारी फैली हुई है। जिसके चलते सरकार और प्रशासन द्वारा सुरक्षा की दृष्टि से शहर के कई थाना क्षेत्रों को कैंटनमेन्ट जोन घोषित किया गया है। इसी क्रम में कानपुर न्यायालय को भी इसी सूची में रख कर अगली 31 जुलाई तक बन्द करने की घोषणा की गई थी। लेकिन वहीं इस बात से नाराज अधिवक्ता संघ ने कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर धरने पर बैठ कर विरोध जाहिर किया। साथ ही उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है कि, जिस भी एरिया में यदि कोई पॉजिटिव मरीज पाया जाता है। तो उसके सौ मीटर की दूरी तक को हॉट स्पॉट घोषित कर एरिया को प्रतिबंधित किया जाता है। लेकिन कचहरी परिसर में ऐसा कोई भी मरीज नही मिला है। बावजूद इसके कुछ प्रशासनिक अधिकारियों के द्वारा एक सोची समझी साजिश के तहत ऐसा किया जा रहा है।  इस न्यायालय में करीब दस हजार लोग रोजी रोटी के लिए रोजाना संघर्ष करते है। लेकिन बीते कई महीनों से कानपुर कोर्ट बन्द होने के कारण ये सभी लोग काफी परेशान है। साथ ही इस संबंध में प्रसासनिक अधिकारियों के माध्यम से मुख्यमंत्री को संबंधित ज्ञापन सौंप कर कानपुर कोर्ट को जल्द स्व जल्द खुलवाने की मांग भी की है। यदि इसके बाद भी सरकार और प्रशासन उनकी बात नही मानता है। अधिवक्ता संघ इस का खुल विरोध करेगा।

कानपुर : नहर में शव मिलने से इलाके में मचा हड़कंप,पुलिस मामले की जाच में जुटी




रिपोर्ट - शिवम् सविता

कानपुर -  साढ़ थाना क्षेत्र के रसूलपुर उमरा गांव में आज उस वक्त हड़कंप मच गया,जब गांव किनारे निकली रामगंगा नहर के पुल के नीचे अज्ञात युवक का शव पाया गया। वही इस मामले की जानकारी होते स्थानीय लोगो व राहगीरो की भीड़ लगना शुरू हो गई। ग्रामीणों ने इस मामले की जानकारी पुलिस को दी। वही पर मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को नहर से निकालकर शिनाख्त कराने का प्रयास किया परंतु सफल नहीं हुए। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर युवक के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। युवक का शव कई दिनों पुराना प्रतीत हो रहा है। युवक ने हरे रंग की बनियान पहनी हुई थी। साढ़ थाना क्षेत्र में बीते सप्ताह में कई शवों के मिलने के बाद इलाके में सनसनी फैली हुई है। बताते चले कि कुछ दिन पूर्व ही पतारा के एक चूड़ी व्यापारी का शव साढ़ थाना क्षेत्र से गुजरी नदी किनारे से प्राप्त हुआ था। जिसका पतारा से ही अगवा कर लिए जाने के बाद निर्मम हत्या कर देने का आरोप परिजनों द्वारा लगाया गया था। हालांकि मौके पर पहुची पुलिस सभी बिंदुओं को ध्यान में रखकर मामले की जांच में जुटी हुई है।

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Advertisement

Created By :- KT Vision